You are Permitted Only 2 Transaction

You are permitted only 2 transaction

why i received two ticket book permitted error ?


when you received this error you think this is software issue but i inform you this is not a software issue or not a IRCTC web site issue.Normally this issue generate from your internet service provider site. now i try to tell you how this problem is generate.

but mostly people not understand English so i decide to discuses this topic in Hindi. if you not understand Hindi please contact me i send you mail about this topic in English.


नमस्कार दोस्तों मैं दीपक सिंह,

Two Ticket Book Permitted Error यह प्रॉब्लम क्यों आता है और इस प्रॉब्लम से कैसे निपटा जाये इस बिषय पे मैं आप को समझने का प्रत्यन करूँगा. अगर आप को थोड़ा भी नेटवर्क और नेटवर्किंग के बारें मैं जानकारी है तो आप इस प्रॉब्लम को बहुत ही अच्छी तरह से समझ सकते है और जिनको नही मालूम है,मेरी यही कोसिस रहेगी  मैं आप को सरल तरीके से समझने की कोसिस करू.






 जैसे की आप ऊपर देख रहे हैं एक ब्लैक कलर का बॉक्स है और उसके अंदर बहुत सारे छोटे छोटे कलर वाले बॉक्स हैं,मैंने एक छोटासा ब्रॉडबैंड इन्टरनेट का नेटवर्क बना के दिखया है.जो बड़ा ब्लैक कलर का बॉक्स हैं उसको आप का एरिया या सिटी समझेय जहां पर आप  रहते हैं,और मैंने इस ब्लैक बॉक्स के अंदर बहुत सरे अलग अलग कलर के बॉक्स को दिखया है जिसका मतलब ये हैं की ये सब इन्टरनेट यूजर हैं और ये लोग भी आप की तरह इन्टरनेट यूज़ कर रहे हैं लेकिंन सभी लोगो का इन्टरनेट प्लान और स्पीड  अलग अलग हैं कोई १ MBPS अनलिमिटेड यूज़ कर रहा है  तो और कोई 50 MPBS का इंटटनेट वाला प्लान यूज़ कर रहा है.

                    ब्रॉडबैंड इन्टरनेट यहां १ टाइप से आप का LAN (लोकल एरिया नेटवर्क) जैसे ही होता है जिसमें  सभी कंप्यूटर १ दूसरे से स्विच,केबल वायर और फाइबर ऑप्टिक केबल से जुडे होते हैं,अब आप ये सोचिये की आप जिस कंपनी का इन्टरनेट USE कर रहे है उसकी टोटल 500 कस्टमर हैं और उनमें से आप भी  १ हो, लेकिन अगर ऊपर दिखयेंगे पिकचर के अनुसार नेटवर्क बनाया जाये तो वह  कभी भी सही ढंग से नहीं चलेगा, क्यों की जब आप का नेटवर्क बड़ा होता है तो उसमें बहुत प्रकार के प्रॉब्लम आते हैं जैसे DDOS Attack, Collusion, Broadcasting Etc. जिससे कोई भी इन्टरनेट प्रोवाइडर अपनी सर्विस सही से नहीं दे पायेगा और नेटवर्क हमेशा जाम रहेगा और सही इन्टरनेट स्पीड कस्टमर को नहीं मिल पायेगी.

                 तो फिर बेगर कोई इन्वेस्टमेंट किये उपर के प्रॉब्लम को कैसे सुल्झया जाये.तो उसके लिए ज्यादा तर SUBNET और  SUBNETTING  का इस्तेमाल किया जाता है,सबनेट यहाँ नेटवर्किंग का ही १ पार्ट हैं जिसे इस्तेमाल कर के आप बेगर कोई भी चेंजेस किये बेगर आप अपने नेटवर्क को अलग अलग भागो मैं बंट सकते हो.वैसे तो और भी बहुत सरे हार्डवेयर यूज़ होते हैं नेटवर्क के ट्रैफिक को रोकने के लिए LIKE :- IP ROUTER, VLAN SWITCH, FIREWALL ETC...... FOR EXAMPLE के लिए आप अपने राऊटर को लॉगिन कर के WAN मैं चैक करें वहां पे आप को कुत्छ इस प्रकार की IP ADDRESS देखने को मिलेगा 

IP ADDRESS            172.16.0.1  
SUBNET MASK      255.255.255.128 


अगर आप के पास राऊटर नहीं है और आप ने डायरेक्ट  इन्टरनेट कनेक्शन कंप्यूटर या लैपटॉप मैं ले रखा है तो आप यहाँ सेटिंग आप के LAN सेटिंग मैं देख सकते है.अब जैसे की आप देख रहे हैं मेरी IP है 172.16.0.1
और मेरी SUBNETMASK है 255.255.255.128. जब आप लॉगिन करेंगे तो आप को मेरे जैसे IP OR SUBNETMASK नहीं मिलेगा BUT आप SUBNETMASK को ध्यान से देखिये 255.255.255.128,   
इसक मतलब  यहां हैं की इस नेटवर्क को 25 भागो या ग्रुप मैं बंटा गया है और हर एक GROUP मैं 126 IP ADDRESS हैं 255.255.255.128/25  अब आप का इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर जो भी इन्टरनेट के प्लान है उसके पास हैं उनको अलग अलग IP ADDRESS  के ग्रुप मैं बंट देगा.

EXAMPLE :- 
10 MBPS PLAN IP 172.16.0.1     TO 172.16.0.126 SUBNET MASK 255.255.255.128 
20 MBPS PLAN IP 172.16.0.128 TO 172.16.0.253 SUBNET MASK 255.255.255.128 
तो मैं आप को एक EXAMPLE  के जरिये समझना चाहता था की नेटवर्क को कैसे अलग अलग भागो मैं बटा जा सकता है और यहां पे मैं आप को दो नेटवर्क बना के दिखया हूँ 

जैसे की मैंने 20 एमबीपीएस का इन्टरनेट प्लान लिया हूँ तो जो मुझे IP ADDRESS मिलेगा 172.16.0.128 TO 172.16.0.253 वहां इस रेंज मैं से कोई एक IP ADDRESS मिलेगा,तो इस रेंज मैं १२६ IP हैं जिसमें से मुझे कोई भी IP मिल सकता है लेकिन 172.16.0.२५३ के उपर का IP नहीं मिलेगा क्यों की मेरे इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर ने यह सेटिंग कर के रखा है की जिन लोगो का 2० एमबीपीएस का इन्टरनेट प्लान है उनको इस रेंज मैं IP मिलेगा और इस ग्रुप मैं १२६ से ज्यादा लोग नहीं कनेक्ट हो सकते है. 

लेकिन दोस्तों इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर का तो प्रॉब्लम सोवल हो गया लेकिन अब यहां पे अपना प्रॉब्लम चालू हो जाता है


अब यहां पे ऐसा होता है की आप ने तो सबसे फ़ास्ट इन्टरनेट कनेक्शन लिया है और आप के इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर ने नेटवर्क के ट्रैफिक न बडे और उसका बैंडविथ बेकार न जाये और अछि सर्विस भी आप को मिले इसलिए उसने अपने नेटवर्क को सेबनेटिंग के जरिया अलग अलग भागो मैं बांटा हैं,लेकिन मैंने जो उद्धरण आप को उपर दिया है उसके अंदर 20 MBPS के स्पीड वाले प्लान मैं सिर्फ १२६ IP हैं और इससे ज्यादा IP नहीं है तो जो भी आप को IP मिलेगा वह १२६ IP मैं से ही १ IP आप को मिलेगा. 

तो प्रॉब्लम इस तरह से स्टार्ट होता आज के समय मैं अधिकतर लोग इन्टरनेट राऊटर इस्तेमाल कर रहे हैं.  और १ बार राऊटर ऑन हो गया तो फिर कभी सयद ही कोई बंध करता है क्यों की सबको अपना पैसा वसूल करना है. तो अब आप सोचिये हमारे पास 20 MBPS वाले प्लान का १२६ IP है जिसमें से १०० लोगो ने राऊटर लगवा लिए और यहां १०० IP उनकी राऊटर पे रजिस्टर हो गये.

            अब बचा २६ IP जिसमें से २० लोगो ने इन्टरनेट का कनेक्शन राऊटर ना लेकर डायरेक्ट अपने कंप्यूटर या लैपटॉप के LAN PORT मैं इन्टरनेट का केबल USE कर के इन्टरनेट का इस्तेमाल कर रहे है.

अब राऊटर का IP तो चेंज होने से रहा जब तक पावर कट या नेटवर्क रिस्टार्ट नही होता है,
अब जो गेम होता है ये ही २६ IP मैं होता है FOR EXP.  रहीम ने AC  का २ टिकेट बुक किये और फिर अपना कंप्यूटर बंध कर चले गए. तो जब रहीम का कंप्यूटर बंध हुआ तो जो IP उनको मिला ताह अब वहाँ IP फ्री हो गया और जब राम ने स्लीपर का टिकेट बुक करने के लिया अपना कंप्यूटर चालू किया तो उनको वही रहीम वाला IP मिल गया ( BAD LUCK ) और इनको बुकिंग के टाइम पे TWO TICKET PERMITTED KA ERROR AA GAYA

दोस्तों जब IP का स्लॉट कम  होता है तो IP जल्दी चेंज नहीं होता है, और यही SAME PROBLEM 3G MOBILE DATA मैं भी आती है अगर आप किसी बडे सिटी मैं रहते है तो आप को सायद ही ऐसा एरर मिला होगा लेकिन आप अगर किसी छोटे से सिटी से आते है तो यहां प्रॉब्लम १००% आता होगा.क्यों की सभी COMPANY को अपना बैंडविथ और ट्रैफिक बचना रहता है. इसमें ही इनका प्रॉफिट हैं.

तो फिर इस प्रॉब्लम को कैसे सोवल करे ?



WWW.WHATISMYIP.COM आप इस वेबसाइट पे जा कर अपने INTERNET का IP ADDRESS  देख सकते है,अब जैसे १ बार टिकेट बुक कर के हो गया तो आप अपने राऊटर ये कंप्यूटर को कुच समय तक बंध कर के रख दे,और फिर दुबारा आप इस वेबसाइट पे जा कर अपने IP ADDRESS चेक कर ले.

अगर इस बार आप को NEW IP ADDRESS मिला है तो आप बुकिंग CONTINUE कर सकते हैं .लेकिन ऊपर के राम और रहीम का जो मैंने उधाहरण दिया है ऐसा भी हो सकता है. लेकिन चान्सेस बहुत काम है ऐसा होने का.



           























  










      





No comments

Powered by Blogger.